Skip to main content

Posts

खीरे में छुपे है अमृत तत्व - गर्मियों में अत्यधिक खाए जाने वाली सब्जी/फल

खीरेमेंछुपेहैसेहतकेगुण और फायदेजब कभी मेँ अपने बीते समय को याद करती हु तो न जाने क्यों एक अजीब सा एहसास होता है और ये एहसास खुशियों भरा होता है। मन करता है कि फिर से में उसी समय में चली जाऊ और उस खुशी को दुबारा से अनुभव करू।आज हम अपने बच्चो को खुश रखने के लिए क्या क्या नहीं करते उन्हें महंगे - महंगे खिलौने दिलाते है, समर कैंप के लिए बाहर ले जाते है, रेस्टोरं में खाना खिलाते हैऔर भी न जाने कितनी चीजे देते है ताकि वे खुश रहे।लेकिन इन बच्चों के चेहरे पर वो ख़ुशी नहीं दिखती जो कभी हमारे चेहरे पर हमारे बचपन में दिखा करती थी।शाम को जब पापा मार्किट जाते तो हम बेसब्री से उनके आने का इंतजार करते कि पापा घर कब आयेंगे और हमारे लिए खाने को चीज लायेंगे। पापा के घर आते ही हम फूले नहीं समाते, हमारी ख़ुशी का ठिकाना न रहता और मम्मी जब थैला खाली करती तो हम उत्सुकता से थैले में से कुछ खाने की चीज का बाहर आने का इंतजार करते।अक्सर पापा कुछ न कुछ हमारे लिए बाजार से खाने को लाते और कभी तो ऐसी चीज देकर खुश कर देते कि आपने कभी सोचा भी नहीं होगा की हम बच्चे कभी ऐसी चीजों पर भी खुश हुआ करते थे।जब थैले से कुछ खाने…

कलयुग का आगमन - राजा परीक्षित

भागदौड़ भरी जिंदगी में ना जाने हम कितनी ही महत्वपूर्ण चीजें अपनी जिंदगी से दूर करते चले आ रहे हैं हम अपने जीवन में इतने व्यस्त हैं कि हम अपना ध्यान आस्था की और भी नहीं रख पाते हैं ।आज में श्रीमद भगवत गीता की एक पौराणिक कथा बताऊंगी। यह हमारे जीवन से कैसे संबंधित है कैसे हम काल के पीछे चले जा रहे हैं -

यह कथा उस समय की है जब कलयुग आने वाला था। राजा परीक्षित नाम के एक राजा हुआ करते थे।एक बार राजा परीक्षित जंगल में शिकार खेलने गए तो उन्हें बीच जंगल में एक बहेलिया मिला वह गाय और बैल को मार रहा था जो कि गाय रूपी माता थी बैल धर्म रूपी था, तब राजा ने पूछा कि तुम इन्हेक्यों मार रहे हो बहेलिया ने कहा कि हम कहां रहे हमें रहने के लिए कहीं जगह नहीं मिल रही है तब राजा परीक्षित ने पूछा आखिर तुम कौन हो जो इतनी बुरी तरह से जानवरों को मार रहे हो तो बहेलिया ने कहा कि में कलयुग हैं, मुझे रहने के लिए स्थान चाहिए।जहां गाय और धर्म होगा में वहां कैसे रह सकता हूँ ऐसा सुनते ही राजा परिचित ने कहा कि ठीक है, हम तुम्हें रहने के लिए 5 स्थान दे रहे हैं पहला स्थान बाजार ,दूसरा स्थान वैश्य, तीसरा जुआ, चौथा स्थान शराब…

तरबूज खाने से होंगे अनोखे फायदे